क्या आप अपनी कार में कचड़ा डालेंगे?

42

आज-कल , चोर-उचक्के हमलोगों  को  SMS भेजकर लाखों-करोड़ों रूपये पुरस्कार देने  की लालच  देते  हैं , लेकिन , यदि कोई ईमानदार आदमी आपको  सचमुच संसार की सबसे महंगी कार से पुरस्कृत कर  दे तो क्या आप उसकी टंकी में  कचड़ा डालेंगे ?
आप सोच रहे होंगे, “कोई अर्ध्विच्छिप्त ही विश्व की सबसे महंगी कार की टंकी में  कचड़ा डालने के बारे में सोचेगा, तो क्या आप अपनी पुरानी मारुती कार या घर में रखे 2000 मॉडल की मोटर साइकिल की टंकी में 
कचड़ा डालेंगे ? 
आप मुझे कोस रहे होंगे क्योंकि मैं अनर्गल प्रश्न पूछकर आपका बहुमूल्य समय नष्ट कर रहा हूँ, सच पूछिये तो मुझे भीे आपका  समय  बर्बाद  करके  घोर आत्मग्लानि हो रही है। 
ज़रा सोचिये, “क्या आपको ईश्वर ने संसार की सबसे अमूल्य धरोहर नहीं दी है? क्या करोड़ों -अरबों खर्च करके भी कोई अपना असली किडनी, दिल  या लिवर पा सकता है? क्या  विश्व  के  सारे  हीरे -जवाहिरात किसी  को  उसका  प्राकृतिक फेफड़ा  दिला  सकते  हैं ?”
आप अपनी खटारा मोटर साइकिल या कार की टंकी में भी कचड़ा डालने की बात पर भरकने लगते  हैं , परन्तु क्या हममें से अनेक ईश्वर प्रदत्त अमूल्य शरीर में हानिकारक गुटखा-तम्बाकू, जानलेवा शराब, सिगरेट का धुँआ या मौत की ओर ले जाने वाले खाद्य पदार्थ नहीं डालते हैं? 
यदि आपके कार या मोटर साइकिल की टंकी में कचड़ा डालने की बात करना पागलपन है तो अपने अनूठे और अनमोल शरीर के साथ किये जा रहे उपरोक्त गतिविधियों के बारे में आप क्या कहेंगे ? 
क्या  आप  अपनी अवांछित  आदतों  से सचमुच छुटकारा  पाना  चाहते  हैं ? क्या सचमुच आप  अपनी अवांछित  आदतों  से सचमुच छुटकारा  पाना  चाहते  हैं ?

‘बारम्बारता  का  सिद्धांत ‘ और  मेरा  अनुभव  यह  कहता  है, “सिर्फ  उपरोक्त   को  बार -बार  दोहराने  से ही  शरीर  को  हानि  पहुँचाने  वाले  अवांछित  आदतों  से  आपको अनिच्छा  होने  लगेगी। 
अपने गतिशील विचारों को टिप्पणी-बॉक्स में डालकर हमें भी अनुगृहित करें.
 
शेयर करें

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here