क्या कुछ लोग जीवित भूत होते हैं ?

54
source google photos


मैं बचपन में भूत से बहुत डरता था। अँधेरी रात में हर खजूर का छोटा पेड़ भूत ही लगता था।  अँधेरी रातों में मैं  ताली बजाते हुए और श्रीकृष्ण भगवान का नाम जपते हुए घर आता था।  हमारे बुजुर्ग बताते थे कि जो मनुष्य मन में  असीम इच्छाएं लिए मर जाता है, वह भूत बन जाता है। भूत बिना शरीर का आत्मा होता है। वह अपनी असीम इच्छाओं की पूर्ति के लिए  बेचैन होकर भटकता रहता है। 
दुर्भाग्यवश कुछ लोग जिन्दा भूत बन जाते हैं।  उनकी इच्छाएं अनियंत्रित होती हैं। उनका शरीर, उनकी वित्तीय स्थिति  या  नैतिक  मर्यादाएं  उनकी सारी इच्छाओं का बोझ उठाने में असमर्थ होती  है। लेकिन वे अपनी इच्छाओं को नियंत्रित नहीं करते हैं और येन -केन -प्रकारेण  अपनी उचित-अनुचित  इच्छाओं  की  पूर्ति  करने  का प्रयास करके घोर कष्ट उठाते हैं और अपनी सामाजिक प्रतिष्ठा भी  खो देते हैं 
मेरे एक मित्र मधुमेह से बुरी तरह पीड़ित हैं। कुछ महीनों पहले उन्होंने बताया कि उच्च  शक्ति  की अंग्रेजी  दवाएँ  खाने  के  बावजूद उनके खून में चीनी का स्तर कम ही नहीं हो रहा है। वे अत्यन्त परेशान थे और लम्बे अवकाश पर थे। कुछ  दिनों  पहले  एक भोज में मुझे उनके दर्शन हो गए । वे गुलाबजामुन और आइसक्रीम मजे ले-लेकर खा रहे थे। उनकी तरफ देखकर मैं मुस्कराया  तो वे झेंप गये, लेकिन मिठाइयों का आनंद उठाते रहे। 

58 वर्ष की उम्र के मेरे एक अन्य परिचित के अनेक अनैतिक सम्बन्ध  हो गये । अतः उन्हें अपने पापों के पोषण के लिए ज्यादा रुपयों की जरुरत थी। परिणामस्वरूप उन्होंने बैंक के खातों में धोखाधड़ी कर दिया और जब उनकी धोखाधड़ी पकड़ी गयी तो जेल जाने के डर से उन्होंने  जहर  खा लिया। अफ़सोस,पहले वे जीवित भूत बने, फिर सचमुच  भूत बन गए। 
 हमारे धर्मग्रंथों में हमारे पूर्वजों ने इच्छाएं नियंत्रित करने की शिक्षा दी है। अब यह हमारे ऊपर है या तो हम अवांछित और असीम इच्छाओं का गुलाम बनकर जीवित भूत की तरह घोर कष्ट उठाते हुए जलालत  भरी  जिन्दगी जियें या फिर अवांछित इच्छाओं को नियंत्रित करके सुखमय जीवन बिताएँ।  
प्रसिद्ध  प्रेरक -साहित्य  लेखक एंथोनी रोब्बिन्स ने अपनी एक पुस्तक में सटीक बात कही है,” यदि आप ज्यादा खाना चाहते हैं और लम्बी उम्र तक जीना चाहते हैं तो थोड़ा-थोड़ा खाएं , इस तरह आप लम्बी उम्र तक स्वस्थ जिएंगे और कुल मिलाकर ज्यादा भी खाएंगे। “
शेयर करें

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here