अपने साथियों को अंतर्यामी न समझें ।

 हमारे साथी भी हमारी तरह इंसान ही हैं, कोई सिद्ध योगी नहीं हैं, लेकिन बदहवासी में एक बार अपने परिवार के सदस्यों को मैनें  अंतर्यामी  समझने की...

क्या निजीकरण है, सारी समस्याओं का समाधान ?

कुछ उत्साही लोग निजीकरण का जोर-शोर से समर्थन करते हैं।    लेकिन, रेल में निजीकरण का प्रयोग पूरी तरह असफल हो चुका है। निजीकरण के बाद...

आज की प्रार्थना

हे प्रभु, आपका कोटि-कोटि आभार !आज मैं साँसे ले रहा  हूँ। आज मेरे सपनों को साकार करने के लिए सुअवसर है। आज मैं अपने साधनों का सदुपयोग...

बीमारियों में जड़ी-बूटियों का उपयोग, कितना उचित ?

मुझे मधुमेह हुआ तो मेरे अनेक शुभचिंतकों ने अनेक प्रकार की जड़ी-बूटियों के बारे अवांछित सलाह दी। मेरे एक मित्र ने पूरे विश्वास के...

कौन थी वो जेबकतरी?

19 अगस्त, 2016 को मैं एक भीड़-भाड़ वाली जगह पर गया। वहाँ  अनेक स्थानों पर "पॉकेटमारों से सावधान "लिखा हुआ था ;रूटीन चेतावनी मानकर...

क्लोनिंग से बचायें अपने डेबिट/क्रेडिट कार्ड

  क्लोनिंग द्वारा हो रही जालसाज़ी से अपनी सुरक्षा करें.     एक सज्जन का क्रेडिट कार्ड उनके पास सुरखित रखा था. लेकिन, जालसाजों ने उनके खाते से...

याददाश्त देती है अक्सर धोखा

दुःशासन द्वारा चिरहरण के असफल प्रयास के पश्चात द्रौपदी ने प्रतिज्ञा किया कि  जब तक उसके  रुधिर से अपने बाल न धोएगी, तबतक  उन्हें  खुला...

इंसान या सामान ?

मेरे गांव के लोग बहुत अच्छे थे और दुःख-सुःख में घुल-मिल कर रहते थे। हमलोग बड़े विनोदी स्वभाव के थे और लोगों को अजीब नामों से पुकारते थे, जिनको...

तिसरा विध्वंशकरी वाक्यांश “चलता है”

 पहले हम दो  विध्वंशकारी  वाक्यांशों "बस एक बार" और "मैंने सोचा" के बारे में बता चुके हैं। आज हम तीसरे  विध्वंशकारी  वाक्यांश "चलता है"...

अपना मस्तक ऊँचा रखें

     आप अपने व्यक्तित्व को दो प्रकार से  निखार सकते हैं। 1. अपने कार्यकलापों को बदल दें। 2. अपने विचारों को बदल दें। एक विश्वप्रसिद्ध कहावत है,"...